Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास के कार्य

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास के न्यासी मंडल का न्यास और धन पर कानूनी स्वामित्व है।

पीएफआरडीए अधिनियम, 2013 के तहत विनियमित राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली या किसी भी अन्य पेंशन योजना के तहत परिचालन और सेवा स्तर कार्यों की निगरानी के लिए न्यास जिम्मेदार है, अगर वह पीएफआरडीए द्वारा निर्देशित है।

मोटे तौर पर, न्यासी मंडल के दायित्व/जिम्मेदारियां और देनदारियां निम्नानुसार हैं: -

  1. अभिदाता के साथ उनके नाम में अलग-अलग पेंशन खातों का निष्पादन करना।
  2. प्राधिकरण द्वारा निदिष्ट किए अनुसार अंकेक्षित वित्तीय योजना, आंतरिक लेखा परीक्षा रिपोर्ट, निरीक्षण, अनुपालन रिपोर्ट और राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास के मध्यवर्ती संस्थाओं द्वारा प्रस्तुत की जाने वाली अन्य रिपोर्टों को स्वीकृति देना।
  3. प्राधिकरण द्वारा बनाए अधिनियमों के प्रावधानों या विनियमों या प्राधिकरण द्वारा जारी दिशानिर्देशों या परिपत्रों के अनुसार राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के अंतर्गत पूँजी के संग्रह, प्रबंधन एवं वितरण से जुड़े सरकारी नोडल अधिकारियों एवं अन्य इकाई या व्यक्ति सहित सभी मध्यवर्ती संस्थाओं के सभी परिचालन और सेवा स्तर गतिविधियों की निगरानी एवं मूल्यांकन करना।
  4. संचालन गतिविधियों को निगरानी और लेखा परीक्षण करना और सभी मध्यवर्ती संस्थाओं से जानकारी या रिपोर्ट प्राप्त करना और लाभार्थियों के हितों की रक्षा के लिए निर्देश जारी करना।
  5. लाभार्थियों के लिए न्यास में मध्यवर्ती संस्थाओं द्वारा संघटित न्यास की सारी संपत्ति को अपने अधिकार में लेना या अपने नियंत्रण में रखना।
  6. राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास की संपत्तियों की रक्षा करना और राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास एवं इसके लाभार्थियों की हितों की सुरक्षित करना।
  7. राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास के नाम पर संघटित संपत्ति पर देय किसी भी आय और न्यास विलेख और प्राधिकरण द्वारा जारी विनियमों, दिशानिर्देशों या निर्देशों के अनुसार लाभार्थियों के लिए न्यास में प्राप्त किसी भी आय के संग्रह का निरीक्षण करना।
  8. राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के अंतर्गत लागू विनियमों के साथ अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए मध्यस्थों द्वारा प्रस्तुत रिर्पोटों पर कार्रवाई करना।
  9. नेशनल पेंशन सिस्टम से अभिदाता की निकासी।
  10. राष्ट्रीय पेंशन प्रणालीएवं विकास प्राधिकरण विनियम, 2015 (अभिदाता की शिकायतों का निवारण) के अनुसार अभिदाता शिकायतों का निवारण करना।